November 29, 2021

पंजाब लोक हित पार्टी बनेगी पंजाब के ओबीसी की आवाज़ पिछड़े वर्गों के लिए बनी योजनाओं का फायदा नहीं मिल रहा है उनको वर्गों में बंटा ओबीसी समाज अपने हकों से किया जा रहा है वंचित

 

धर्मपाल वर्मा

दक्ष दर्पण समाचार सेवा

 चंडीगढ़

ओबीसी समाज के बहुसंख्यक होने के बावजूद इसके असंगठित और विभिन्न वर्गों में बंटे होने के कारण, राजनीतिक तौर पर पिछड़े होने, दबे-कुचले, प्रताड़ित और शोषित महसूस करते हुए, इंसाफ लेने की कोशिश के मकसद से ये समाज एक राजनीतिक मंच पर एकत्र हुआ है। राज्य की करीब 35 संस्थाओं ने, जो कि समाज के अलग अलग वर्गों से संबंध रखती हैं, आपस में मिल बैठकर ये फेसला किया है कि एक राजनीतिक पार्टी रजिस्टर्ड करवाई जाए।

इन संस्थाओं की बैठकों का दौर चलते हुए एक साल से अधिक का समय हो गया है। इन बैठकों में विचार के बाद “पंजाब लोक हित“ पार्टी के बैनर तले ये पार्टी पंजाब के आने वाले विधानसभा चुनावों, जो कि साल 2022 में होंगे, में पार्टी पूरे जोर शोर के साथ शामिल होगी।

इन संस्थाओं ने महसूस किया है कि ओबीसी समाज के हर वर्ग के लिए सरकारी योजनाएं बनती हैं, पर इन स्कीमों का फायदा एक सीमित वर्ग तक ही सिमट कर रह जाता है। ये फायदा जरूरतमंदों तक पहुंचता ही नहीं है।

ऐसे में समाज के अंदर इस कमी को दूर करने के लिए आज इस पार्टी का गठन किया गया है ताकि ओबीसी समाज के हर वर्ग को बराबर फायदा पहुंचाया जा सके। संस्थाओं के निम्नलिखित पदाधिकारियों ने अलग अलग समय के दौरान अलग अलग बैठकों में पार्टी का एजेंडा तैयार किया है, जिसे काफी जल्द ही सार्वजनिक कर दिया जाएगा।

पदाधिकारियों की सहमति के साथ श्री मलकीत सिंह बीरमी, पूर्व मंत्री, पंजाब सरकार को पार्टी प्रधान चुना गया है। इसके बाद ये सभी संस्थाएं पंजाब लोक हित पार्टी का ही हिस्सा समझी जाएं क्यांंकि इन सभी का पार्टी में विलय कर दिया गया है।

Previous post सहकारिता मंत्री डॉ बनवारीलाल ने सिंधु बॉर्डर पर दलित की हत्या करने की कड़े शब्दों में की निंदा– दलितों पर अत्याचार किसी कीमत पर नहीं किया जाएगा सहन—-
Next post दो रेलवे अंडरपास न बनने की वजह से शुरू नही हुआ सूरजपुर सुखोमाजरी बाईपास,बाकी 90 प्रतिशत काम हुआ पूरा : विजय बंसल — विजय बंसल ने उतर रेलवे के डीआरएम को भेजा पत्र,एक हफ्ते के लिए कालका रेलवे स्टेशन हेतु ट्रेन रुट रोकने की मांग