October 27, 2021

शिक्षा राज्य मंत्री ने हर्ष पर्वत का किया दौरा* *हर्ष पर्वत के विकास कार्यों के लिए 8 करोड़ रूपये व्यय किये जायेंगे* *रोपवे, केंटिन, पार्किंग की सुविधाओं को विकसित किया जायेगा*

दक्ष दर्पण समाचार सेवा

सीकर 19 सितम्बर। शिक्षा, पर्यटन एवं देवस्थान राज्य मंत्री गोविन्द सिंह डोटासरा ने रविवार को हर्ष पर्वत का दौरा किया। उन्होंने मंदिर के पुजारी मनोज कुमार से यहां की व्यवस्थाओं को जाना और हर्ष पर्वत पर पर्यटकों के लिए जो समस्याएं बताई उसके संबंध में उन्होंने वन विभाग, पर्यटन, सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि हर्ष पर्वत पर पर्यटन विकास की विपुल संभावनाओं को देखते हुए यहां पर सड़क, छाया , पार्किंग, केंटिन की सुविधा और मंदिर के जीणोद्धार जैसे विकास कार्य विकसित करने के लिए कार्य योजना तैयार करें ताकी बजट स्वीकृत कराने के साथ ही कार्य शुरू करवाया जा सके।
शिक्षा, पर्यटन एवं देवस्थान राज्य मंत्री गोविन्द सिंह डोटासरा ने इस अवसर पर कहा कि राजस्थान सरकार ने शेखावाटी क्षेत्र में पर्यटन विकास के लिए शेखावाटी सर्किट की घोषणा बजट में मुख्यमंत्री ने की थी, उसको लेकर कार्य योजना तैयार की जा रही है। उन्होंने बताया कि हर्ष पर्वत की सबसे पहले लगभग 6 करोड़ रूपये की लागत से सड़क बन रही है जिससे लोगों को मंदिर तक भैंरवनाथ के दर्शन करने के लिए आवागमन में सुविधा मिलेगी। उन्होंने बताया कि इसके साथ ही हर्ष पर्वत पर पर्यटन विकास के लिए अन्य विकास कार्यों का एसटीमेंट तैयार किया जा रहा है, जिसकी वित्तीय स्वीकृति एक सप्ताह के अन्दर वित्त विभाग को शेखावाटी सर्किट में लगभग 100 करोड़ रूपये है उसकी कार्य योजना भिजवाई गई है।
शिक्षा राज्य मंत्री डोटासरा ने कहा कि हर्ष पवर्त को पर्यटन के रूप में विकसित करने के लिए साथ ही भैंरूजी का मंदिर है वह पुरातत्व विभाग के अधीन है, उसमें पुरातत्व विभाग की तरफ से जो भी उसमें आवश्यकता है, श्रृद्धालुओं के लिए बैठने के लिए छाया की व्यवस्था, मंदिर के जीणोद्धार का कार्य पुरातत्व विभाग द्वारा किया जायेगा। उन्होंने बताया कि यहां पर आने वाले पर्यटकों के लिए रेस्टोरेंट , जो लोग परिवार सहित मंदिर में दर्शन करने के लिए आते है उनके लिए प्रसाद बनाने के लिए रसोई की व्यवस्था नहीं है तथा बैठक कर प्रसाद लेने की जगह नहीं है, गाड़ी की पार्किंग की व्यवस्था नहीं है, जिसके संबंध में पर्यटन विभाग का प्रयास रहेगा कि जो रास्ते में पैदल श्रृद्धालु आते है उनके लिए जगह -जगह छाया हो और झौंपड़िया और कुर्सियां हो जिससे वो यहां बैठकर इस प्राकृतिक सौंदर्य का आनंद ले सके।
शिक्षा राज्य मंत्री डोटासरा ने बताया कि हर्ष पर्वत पर वन विभाग का गेस्ट हाऊस बना हुआ है जिसमें सभी व्यवस्थाएं सूचारू है, ऎसी व्यवस्थाएं आम लोगों के लिए भी हो जिसके लिए लगभग 8 करोड़ रूपये की राशि हर्ष पर्वत पर विकास कार्यों के लिए व्यय की जायेगी।
शिक्षा, पर्यटन एवं देवस्थान राज्य मंत्री गोविन्द सिंह डोटासरा ने बताया कि हर्ष पर्वत पर यदि रोपवे की व्यवस्था होगी तो हम इसकी जांच करवाकर कोई कम्पनी आती है तो यहां पर पीपीपी मोड़ पर रोपवे की व्यवस्था की जायेगी जिससे ज्यादा से ज्यादा पर्यटक और श्रृद्धालुओं को मंदिर तक पहुंचने में आसानी रहेगी।
इस दौरान जिला कलेक्टर अविचल चतुर्वेदी, एसडीएम सीकर गरिमा लाटा, धोद मिथलेश कुमार, पीआरओ पूरण मल, उपवन संरक्षक भींमाराम चौधरी, अधीक्षण अभियन्ता जलदाय चुन्नी लाल, पीडब्ल्यूडी सायरमल मीणा, सहायक निदेशक पर्यटन देवेन्द्र चौधरी, सहायक पर्यटन अधिकारी आनंद भारद्वाज सहित संबंधित विभागीय अधिकारी उपस्थित रहें।

Previous post जींद की सम्मान दिवस रैली में असन्ध की सहभागिता रहेगी सर्वाधिक अनुकरणीय *पाढा*
Next post कांग्रेस ने पंजाब को दिया पहला दलित मुख्यमंत्री, आलाकमान का आभार, चन्नी को बधाई । *मुदिता शर्मा