October 27, 2021

योजनाओं का लाभ समय पर और सही व्यक्ति तक पहुंचे इसके लिए खुद प्रधानमंत्री मोदी चिंता करते हैं : रामबिलास शर्मा ……पूर्व शिक्षा मंत्री प्रो.रामबिलास शर्मा जी का भाजपाइयो ने भिवानी पहुँचने पर भव्य स्वागत किया

दक्ष दर्पण समाचार सेवा

भिवानी:

पूर्व शिक्षा मंत्री प्रो.रामबिलास शर्मा जी का भाजपाइयो ने भिवानी पहुँचने पर भव्य स्वागत किया ! इस अवसर पर पूर्व शिक्षा मंत्री प्रो.रामबिलास शर्मा जी ने कहां की राष्ट्रसेवा और गरीब कल्याण के प्रति समर्पित देश के सर्वप्रिय नेता प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के रूप में देश को एक ऐसा नेतृत्व मिला है जिसने लोक-कल्याणकारी नीतियों से वंचित वर्ग को विकास की मुख्यधारा से जोड़ा और एक मजबूत भारत की नींव रखी। उन्होंने कहा कि करोड़ों लोगों को ध्यान में रखकर योजना बनाने का दावा तो सभी सरकारें करती रही हैं, लेकिन करोड़ों लोगों की समस्या को समझकर और उन्हें महसूस कर योजना बनाने का कार्य सही मायने में पहली बार मोदी ने ही किया। जन-धन योजना के तहत गरीबी रेखा से नीचे के लोगों के खाते खुलवाकर उनमें पैसे डलवाने का कार्य पहली बार देश में हुआ। जिस एलपीजी गैस सिलेंडर के लिए लंबी लंबी लाईन लगती थी, नरेंद्र मोदी सरकार आने के बाद न केवल वो लाईनें समाप्त हो गई बल्कि एक फोन पर हर घर तक सिलेंडर पहुंचने की व्यवस्था ने आम लोगों को भी राहत दी। इस पर उज्जवला योजना के जरिए करोड़ों गरीब घरों में गैस सिलेंडर देना सोने पर सुहागा रहा।इसके अलावा आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना, ऑपरेशन ग्रीन योजना, मत्स्य सम्पदा योजना, विवाद से विश्वास योजना, पीएम वाणी योजना, उत्पादन लिंक्ड प्रोत्साहन योजना, प्रधानमंत्री कुसुम योजना, आयुष्मान सहकार योजना, स्वामित्व योजना पीएम मोदी हेल्थ आईडी कार्ड, प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण तथा शहरी), आयुष्मान भारत योजना, प्रधानमंत्री अटल पेंशन योजना, मातृत्व वंदना योजना, नेशनल एजुकेशन पालिसी योजना, अन्‍त्‍योदय अन्‍न योजना, स्वनिधि योजना, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, फ्री सिलाई मशीन योजना, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना, फ्री सोलर पैनल योजना, प्रधानमंत्री रोजगार योजना, प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना आदि सहित सैंकड़ों योजनाएं विभिन्न वर्गों का ध्यान रखकर बनाई गई। इन योजनाओं का लाभ समय पर और सही व्यक्ति तक पहुंचे इसके लिए खुद प्रधानमंत्री मोदी चिंता करते हैं। पूर्व शिक्षा मंत्री प्रो.रामबिलास शर्मा जी ने कहां की पीएम मोदी का “मन की बात” कार्यक्रम इसकी एक झलक मात्र है। कोरोना महामारी की शुरुआत में जिस तरह से बार बार देश की जनता से सीधे संवाद करके देश को संभाला ये भी पूरी दुनिया ने देखा। ये मोदी की जनता के प्रति संवेदना ही है कि कोविड के रूप में देश पर आई विपत्ति में लोगों के दर्द को देखकर वे भी द्रवित होते देखे गए। उन्होंने कहा किए एक मजबूत, सुरक्षित, आत्मनिर्भर भारत के लिए अपने जीवन का क्षण-क्षण खपा देने वाले नरेंद्र मोदी जी भारतीय जनता पार्टी के नेता है यह भाजपा कार्यकर्ताओं के लिए बहुत ही सौभाग्य की बात है। उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी का बचपन का संघर्ष और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के माध्यम से मिले देशभक्ति के संस्कार उनको मजबूत बनाते चले गए। इस मजबूती के कारण ही नरेंद्र आम आदमी, गरीबों, दलितों और शोषितों के लिए दिन-रात काम करते – करते राजनीति के शिखर तक पहुंचे।विपक्ष कुछ भी बोले, लेकिन दबे मुहं विपक्ष भी मानता है कि मोदी की नीति आम लोगों के जीवन में बुनियादी बदलाव ला रही है। लाखों लोगों ने कभी बैंक नहीं देखा था, लेकिन जनधन योजना के जरिए ऐसे 30 करोड़ लोगों के खाते बैंकों में खुल पाए। जिससे किसान, खेतिहर मजदूर, छात्र और महिलाओं को अनेक योजनाओं का सीधा लाभ मिल सका। उन्होंने कहा कि मध्यम वर्ग के किसानों के हितों के लिए भी काम किया। किसानों को बुवाई के मौसम में समय पर अच्छी गुणवत्ता के बीज और खाद मिलें, यह सुनिश्चित करने के लिए खुद नरेंद्र मोदी ने पहल की। यूरिया खाद की कालाबाजारी रोकने की कोशिश करने के साथ ही उसकी गुणवत्ता बरकरार रखने के प्रयास किए जा रहे हैं। मोदी ने दशकों से चली आ रही किसान विरोधी बाजार नीति को बदलने का निर्णय लिया और 2022 तक किसानों की आय दो गुना करने का फैसला लिया और इसके लिए योजना व कानून बनाए। भले ही तीन कृषि कानूनों का विरोध कुछ किसान संगठन कर रहे हैं, लेकिन मोदी का विजन करोड़ों किसानों को आत्मनिर्भर बनाने का है और यही कारण है कि मोदी अपनी कल्याणकारी नीतियों को लागू करने में हौसला भी दिखाते हैं। ऐसा नहीं है कि धरने पर बैठे किसानों की बातें सुनी नहीं गई, बल्कि 11 बार बातें की, लेकिन किसान नेता अपने राजनीतिक एजेंडे के तहत कानूनों को रद्द करने पर अड़े हैं। पूर्व शिक्षा मंत्री प्रो.रामबिलास शर्मा जी ने कहां की नए बिजनेस शुरू करने के लिए सुलभ आर्थिक सहायता प्रदान किया, बल्कि उनके उत्पादों के लिए बाज़ार उपलब्ध कराने का भी प्रयत्न किया गया। इन युवाओं द्वारा उत्पादित 4% उत्पादों को सरकार द्वारा खरीदने का एक बहुत ही महत्वपूर्ण निर्णय मोदी ने लिया। इससे अब तक देश के 2.75 करोड़ युवाओं को फायदा हुआ। गरीब वर्ग और महिला सशक्तिकरण के लिए कई योजनाएं शुरू की गई। मोदी के मंत्रिमंडल पर एक नज़र डालने पर पता चलता है कि उनके मंत्रिमंडल का चेहरा पिछले सभी मंत्रिमंडलों से अलग है।पूर्व शिक्षा मंत्री प्रो.रामबिलास शर्मा जी ने कहां की ओलिंपिक में हमारे खिलाड़ी पहले भी जाते रहे हैं, लेकिन कभी अभिभावकों की तरह उनकी पीठ पर राजनैताओं ने हाथ नहीं रखा। इस बार मोदी जी ने न केवल ओलंपिक में जाने से पहले खिलाड़ियों का हौसला बढ़ाया बल्कि एक एक मैच के बाद मोदी ने खिलाड़ियों की पीठ थपथपाई। यही कारण रहा कि ओलंपिक और पैरालंपिक में हमने इतिहास रचा। पूर्व शिक्षा मंत्री प्रो.रामबिलास शर्मा जी ने कहां की ने कहा कि नरेंद्र मोदी विपरीत परिस्थितियों से लड़ने वाले एक ऐसे योद्धा के रूप में जाने जाते हैं, जो चाइना जैसे दुश्मनों से आंख में आंख मिलाकर डोकलाम में पीछे हटने पर मजबूर कर देता और पुलवामा अटैक का बदला पाकिस्तान से उसके घर में सर्जिकल स्ट्राइक करके लेता है, लेकिन इस योद्धा के पास अपनी जनता के दु:ख में शरीक होकर दुख जताने वाला भावुकता से भरा दिल भी है। निर्णय लेने की क्षमता ने 71 साल के नरेंद्र मोदी की छवि को ग्लोबल बना दिया है। उनकी गिनती दुनिया के चंद बडे़ नेताओं में होती है, जिनके हर फैसले पूरी दुनिया के लिए मायने रखते हैं। इस अवसर पर नरेंद्र शर्मा ब्लॉक समिति पूर्व चेयरमैन प्रतिनिधि, पार्षद मुकेश रहेजा,ब्लॉक समिति चेयरमैन विकास काठपाल , ढिल्लु देवसर, राजेश शर्मा, परमेश्वर शर्मा, योगेश शर्मा, पंकज शर्मा, डॉ योगेश, संदीप कुमार , राजेश कुमार, राजन , सतीश कुमार उपस्थित थे

Previous post स्पैशल अभियान के अन्तर्गत अवैध हथियार सहित आरोपी चढा पुलिस के हत्थे, न्यायालय में पेशकर भेजा जेल
Next post सुखजिंदर सिंह रंधावा होंगे पंजाब के नए मुख्यमंत्री।