September 19, 2021

मोदी सरकार स्वतंत्र प्रैस का गला घोंट कर प्रजातन्त्र पर हमला बोल रही है- सी पी आई

दक्ष दर्पण समाचार सेवा

पानीपत : .24 जुलाई, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी की हरियाणा पानीपत जिला कौंसिल की मीटिंग कामरेड,राम रत्न सैनी की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई। बैठक में केन्द्र सरकार पर आरोप लगाया गया कि भास्कर समूह और भारत समाचार पर आयकर छापे जानबूझकर डलवाए जा रहे हैं, ताकि स्वतन्त्र प्रैस की आवाज को दबाया जा सके। सी पी आई की जिला कौंसिल ने इस कार्यवाही की कड़ी निंदा की है और सरकार को आगाह किया है कि वह इन हरकतों से बाज आए, सरकार को लोकतन्त्र को खत्म करने की इजाजत नहीं दी जा सकती। सी पी आई के राज्य सचिव दरियाव सिंह कश्यप ने कहा सीपीआई ने हमेशा शासकों की इस तरह की तानाशाहीपूर्ण कार्यवाहियों का जमकर विरोध किया है और अब भी सरकार की तानाशाहीपूर्ण नीतियों के विरोध में अगली कतारों में रहेगी।
कामरेड कश्यप ने कहा कि गोदी मीडिया घरानों पर सरकार कभी भी इस तरह की कार्यवाही नहीं करेगी, जो पत्रकार व अखबार स्वतन्त्र रूप से जनता के पक्ष में लिखते हैं, आम आदमी की आवाज उठाते हैं, सरकार उन्हीं को देशद्रोही घोषित करके उनका उत्पीड़न कर रही है, ताकि वे सरकार की जन विरोधी नीतियों पर मुंह न खोल सकें।
सर्वविदित है कि भास्कर और भारत समाचार ने कोरोना की दूसरी लहर को काबू करने में सरकार के कुप्रबंध को जनता के सामने उजागर किया था, जिसको वह हजम नहीं कर पा रही है। सीपीआई के जिला सचिव पवन कुमार सैनी कहा कि मोदी सरकार आज विरोध में आवाज उठाने वालों पर पैगासस स्पाईवेयर के जरिये साईबर हमला करवा कर उनकी आवाज को हमेशा बंद करने का षडयन्त्र रच रही है। हर जनवादी आन्दोलन को बर्बरता से कुचलने की योजनाए बनाई जा रही हैं। सह सचिव कामरेड राम रतन सैनी ने कहा कि सरकार मंहगाई, बढ़ती बेरोजगारी, किसान आन्दोलन का समाधान नहीं कर रही है,बल्कि देश के संसाधनों को कॉरपोरेटस द्वारा लुटवा रही है, परिणामस्वरूप जनता का आक्रोश बढ़ता जा रहा है, इसको दबाने के लिए जनता के अधिकारों में कटौती कर रही है, मीडिया पर अकुशं लगा रही है, भय का वातावरण बनाया जा रहा है।
बैठक में महंगाई, बेरोजगारी, भ्रष्टाचार पर रोक लगाने, तीनों कृषि कानून रद्द करने, स्कीम योजनाओं में काम कर रहे वर्करों को सरकारी कर्मचारी का दर्जा देने, पानीपत से गुजरने वाली सभी पैसेंजर ट्रेन चलाने आदि मांगों को लेकर 9 अगस्त को होने वाले संयुक्त प्रदर्शन एवं 18 अगस्त को इन्हीं सवालों पर होने वाले हरियाणा एटक के जिला स्तरीय प्रदर्शन में शामिल होने का फैसला लिया गया। मनरेगा एवं एस सी सबप्लान का फंड इन्हीं वर्गों के विकास में खर्च करने की मांग पर देशव्यापी आंदोलन की कडी़ में 26 जुलाई को पानीपत उपायुक्त कार्यालय पर खेत मजदूरों के धरने में शामिल होने का निर्णय लिया गया। बैठक में 31 जुलाई तक शहीद उद्धम सिंह के 81 वें शहीदी दिवस पर भगत सिंह स्मारक में यादगार सभा आयोजित करने का फैसला लिया गया। बैठक में सेवा सिंह मलिक, शीश राम, पिरथी सिंह सैनी, चौ0 सूरत सिंह देशवाल, ओम सिंह यादव, अशोक पंवार कृष्ण लाल लोहारी, जय भगवान दरियापुर, रामबीर कश्यप, धर्मबीर गुलाटी, भूपेन्द्र कश्यप, राम आसरे आदि ने विचार व्यक्त किये।

Previous post राई के औरंगाबाद गांव में कोविड-19 वैक्सीनेशन संपन्न।
Next post जेजेपी ने अपने संगठन में किया विस्तार – बीसी सेल में 34 वरिष्ठ पदाधिकारी किए नियुक्त – कृष्ण गंगवा को बनाया प्रदेश प्रभारी – राम मेहर ठाकुर होंगे प्रदेशाध्यक्ष